तबलीग जमात को लेकर सांप्रदायिक जहर घोलना मीडिया को पड़ा भारी ZEE, ABP, AAJ TAK, REPUBLIC, India टीवी के खिलाफ

मुम्बई: दुनिया भर में कोहराम मचा रहे कोरोना वायरस की यह बीमारी तो आज है, कल खत्म हो जाएगी लेकिन देश की सबसे बड़ी बीमारी झूठी मीडिया बनती जा रही है. वैसे तो अधिकांश न्यूज चैनल अफवाह फैलाने की मशीन बन चुके हैं लेकिन इनमें से भी कुछ चैनल ऐसे भी हैं जिन्होंने ऐसा लगता है कि देश को झगड़ा की आग में झुलसाने की सुपारी ले रखी है. कोई भी तबलीग़ी जमात की लापरवाहियों का support नहीं करेगा।
लेकिन जिस तरह से मीडिया के एक बड़े हिस्से ने कोरोना जैसी म’हामा’री को भी सां’प्रदायि’क खेल में तब्दील कर दिया है,  कुल मिलाकर देश में ऐसा माहौल बनाने  साजिश हो रही है  जैसे  कोरोना तबलीग़ की वजह से फैल रहा है, या वे जानबूझकर फैला रहे हैं। हद तो ये है कि इस प्रचार में धार लाने के लिए तमाम झूठ गढ़े जा रहे हैं जिसे मीडिया का बड़ा हिस्सा भी इसको प्रसारित करने में जुटा है।

लगातार एक हफ्ते से तब्लीग जमात और मुसलमानो को बदनाम कर उनके खिलाफ देश के हिंदुओं के दिलों में नफरत का ज’हर घोला जा रहा है। जिसके चलते एक महमूद नाम के व्यक्ति ने इसलिए जान ले  ली के, उसके पड़ोसी उसे तब्लीगी लोग कोरोना की महामा’री फैला रहे है तू भी मरेगा हमे भी मरवाएगा मुल्ले जैसे ताने और बार बार अपमानित कर रहे थे।
वही दूसरी घटना है जिसमे दिलशाद नाम के व्यक्ति को कुछ गैरमुस्लिम क’ट्टरपंथी’यो ने इसलिए मा’र मा’र के अ’धम’रा कर दिया क्योकि वह तब्लीग जमात से जुड़ा हुआ था। एनडी टीवी के रिपोर्ट के अनुसार दिलशाद की लॉ’न्चिं’ग की गई उसकी हालात गंभीर बताई जा रही है।

तेलंगाना, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश के कई देहातों में आज मुसलमानो का जीना मोहाल हो रहा है। लोग मुसलमानो को राशन बेचना, सार्वजनिक बोरवेल से पानी लेने के लिए भी माना कर रहे है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि आधुनिक जमाने मे मुसलमानो को अछूत घोषित कर दिया है। तेलंगाना में ऐसे कई मामले सामने आए है। मुसलमानो में डर का माहौल है।
यह सब देश के मीडिया द्वारा फैलाये गए आ’तं’क के कारण ही हो पा रहा है। गौरतलब हो के कही भी कोई भी घटना घटी तो उसे मुसलमानो से जोड़कर मुसलमानो को आतंकित किया जा रहा है।

ज़रा ऊपर की तस्वीर ग़ौर से देखिये, भारत में हिंदी टीवी पत्रकारिता के पितामह एस.पी.सिंह के चेले दीपक चौरसिया किस शान से प्रयागराज की एक घटना को किस तरह अपनी debait मे तबलीगी जमात से जोड़ रहा हैं जिसका वहां की पुलिस खंडन कर रही है। देश ये पहली बार देख रहा है कि संपादक स्तर के पत्रकार के दावों का खंडन पुलिस कर रही है, यही नहीं एबीपी न्यूज़ के विकास भदौरिया के झूठ का भी पुलिस ने खंडन किया।
उधर, हिरासत में लिये गये तबलीगी जमात के लोगो मां’साहा’री खाने के लिए उत्पात मचा रहे हैं, ऐसी भी ख़बरें सोशल मीडिया में ख़ूब वायरल हो रही है. लेकिन वैधता तब मिली जब मां’साहा’री भोजन और खुले में शौच जैसी ख़बरें किसी और और ने नहीं, एक ज़माने में हिंदी के चुनिंदा प्रखर और सत्यनिष्ठ अख़बारों में दर्ज किये जाने वाले अमर उजाला ने इसे छापा। इसका भी खंडन पुलिस ने किया है।
वही इसी खतरे को देखते हुए महाराष्ट्र के परभणी जिले के एक एडवोकेट सय्यद जुनैद सय्यद जिलानी द्वारा ZEE NEWS, AAJ TAK, ABP NEWS के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है। और एडवोकेट ने सोशल मीडिया द्वारा कहा के हर जिले से राहट्रद्रोही मीडिया पर FIR होगी तब ही बेलगाम मीडिया द्वारा फैलाये का रहे ज’हर को रोका जा सकता है।। 

Spread the love

Leave a Comment