Nizamuddin Markaz mai Corona cases

Nizamuddin Corona cases: तब्लीगी मरकज में विदेशों से भी आए थे 200 से अधिक लोग, ये रही list 

Nizamuddin Corona cases निजामुद्दीन इलाके में पिछले दिनों आयोजित हुए तब्लीगी जमात में शामिल कई लोगों के कोरोना वायरस संक्रमित होने के बाद हड़कंप मचा हुआ है।…

नई दिल्ली, एजेंसी/जेएनएन। दक्षिण दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में पिछले दिनों आयोजित हुए तब्लीगी जमात में शामिल 24 लोगों के कोरोना वायरस संक्रमित होने के बाद हड़कंप मचा हुआ है। वहीं, जानकारी मिली है कि तबलीगी मरकज में शामिल होने के लिए मलेशिया, अफगानिस्तान, म्यांमार, थाईलैंड, श्रीलंका समेत दर्जन भर देशों से लोग आए थे।

  List of foreigners- Gol Sources Nepal
  Malaysia 20
  Afghanistan 1
   Myanmar 33
   Algeria 1
   Djibouti 1
   Kyrgyzstan 28
   Indonesia 72
   Thailand 71
   Shri Lanka 34
   Bangladesh 19
   England 3
   Singapore 1
   Fiji 4
   France 1 kuwait 2   #Banglewalimasjid

वहीं, मरकज में हरियाणा, बिहार और पंजाब समेत 20 राज्यों से 1830 लोग शामिल हुए थे। इनकी सूची भी जारी कर दी गई है। ऐसे में उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना के साथ अंडमान के लोगों की भी मुश्किल बढ़ गई है, क्योंकि तब्लीगी में शामिल होने वाले वहां पहुंचकर बीमार हो गए हैं और इनमें कोरोना वायरस की पुष्टि भी हो गई है।

दिल्ली जमात में शामिल हुए थे हापुड़ से आए 2 लोग

जानकारी मिली है कि हजरत निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी मरकज जमात में हापुड़ से भी दो लोग शामिल हुए थे। इनमें से एक दिल्ली में और एक मेरठ में मौजूद है। वहीं इसको लेकर हापुड़ में भी अलर्ट जारी कर दिया है।

मेवात में भी आए थे तबलीगी जमात के लोग

वहीं, हरियाणा के मेवात से भी खबर आ रही है कि तबलीगी जमात के लोग यहां भी आए हुए थे। तावडू के प्रतिनिधि से जानकारी संवाददाता से फोन पर बात हुई थो उसने इस बाबत जानकारी दी।

 Sr.       Name.       Figure

  1.      Andaman.          21
  2.      Assam.                216
  3.      Bihar.                  86
  4.      Haryana.             22
  5.      Himachal.           15
  6.      Hyderabad.         55
  7.      Karnataka.          45
  8.       Kerala.                 15
  9.      Maharashtra.      109
  10.       Meghalaya.         5
  11.      Madhya Pradesh 107
  12.      Odisha.                  15
  13.      Punjab.                  09
  14.      Rajasthan              19
  15.       Ranchi.                  46
  16.       Tamil Nadu.          501
  17.       Uttarakhand.         34
  18.        Uttara Pradesh.     156
  19.        West Bengal.         73
  20.        International.        281

                 Total.                1830

मरकज की तरफ से अपने बचाव में दलील दी गई है कि उन्होंने लॉक डाउन के निर्देश मिलने के फौरन बाद तकरीबन 15 सौ लोगों को मरकज से रवाना करवा दिया था और बाकी लोगों की. रवानगी के लिए और ज्यादा   गाड़ियों की पूरी सूची  पुलिस को दी थी ताकि उनकी permition मिल   सके।

1000 से ज्यादा लोगों को निकाला गया

समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक,  मंगलवार दोपहर तक 1034 लोगों को यहां से निकाल कर अलग-अलग जगहों पर भेज दिया गया है। 334 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि 700 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया है। इसके लिए बसों ने 34 चक्कर लगाए। भीड़ में शामिल 34 लोगों को कोरोना वायरस संक्रमित पाया गया है।

SDMC के कर्मचारियों ने इलाके को किया सैनिटाइज

दक्षिण दिल्ली नगर निगम की टीम ने सुबह मकरज भवन और आसपास के इलाकों को सैनिटाइज किया। निगम के अधिकारियों की मानें तो उन्होंने पूरे इलाके को सैनिटाइज किया है, जिससे कोई कोरोना वायरस की चपेट में न आ सके।

मरकज भवन अनधिकृत, होगी सील

निजामुद्दीन स्थित मरकज का भवन अनधिकृत रूप से बनाया गया है। एसडीएमसी standing committee के डिप्टी चेयरमैन राजपाल सिंह ने सेंट्रल जोन के डीसी को पत्र लिखकर बिल्डिंग को सील करने को कहा है।


Delhi Nizamuddin Markaz main

अब तक 24 लोग निकले पॉजिटिव

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendar Jain, Delhi Health Minister) ने कहा है कि हमारे पास बिल्कुल सही संख्या मौजूद नहीं है, लेकिन 1500-1700 के बीच लोग तब्लीगी जमात में शामिल हुए थे। अब तक 1300 लोगों को यहां से निकाला गया है। इनमें 334 को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि 700 लोगों के क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया है। निजामुद्दीन मरकज से विभिन्न अस्पतालों में लाए लोगों में 24 पॉजिटिव निकले हैं।

तब्लीगी में शामिल होकर तेलंगाना गए 9 लोग पॉजिटिव

अंडमान में कुल 10 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, इसमें से 9 लोग निज़ामुद्दीन की मरकज़ से गए थे। 10 वीं मरीज़ इन्हीं में एक मरीज़ की पत्नी है, वह भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई है।


आयोजकों ने किया घोर अपराध, होगी FIR

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि आयोजकों ने बहुत ही घोर अपराध किया है। मैंने उपराज्यपाल को चिट्ठी लिखकर कहा है कि इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए और इनको बख्शा ना जाए। FIR के निर्देश दे दिए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक, जमात से निकाले गए जिन लोगों में अभी कोई लक्षण नहीं दिख रहा है उन्हें आइसोलेशन सेंटरों में 15 दिनों के लिए रखा जा रहा है। 15 दिन बाद इन्हें छोड़ा जाएगा। दिल्ली में जवाहरलाल स्टेडियम, बाहरी दिल्ली में आईटीबीपी कैंप, बुरारी और बवाना में आइसोलेशन सेंटर बनाया गया है।

228 संदिग्ध मरीज भी दिल्ली के दो अस्पतालों में भर्ती कराए गए हैं। इनकी रिपोर्ट आनी बाकी है। इस तरह कुल 252 लोगों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

, l

Spread the love

Leave a Comment